सोमवार, 17 दिसंबर 2012

एक्जिट पोल और मेरी नेट पर वापसी

                                

आज गुजरात के एक्जिट पोल टी वी पर आ रहे थे।नरेन्द्र मोदी जी को बधाई कम से कम एक्जिट पोल में तो भारी  विजय मिली। मैं 21 साल से एक्जिट पोल टी वी पर देखता आया हूँ। भारत में करीब हर बार इन सर्वेक्षणों ने निराश किया है।मुझे इसकी वजह यह नजर आती है भारत में सर्वे वैज्ञानिकता से परे होते है।कई बार सर्वे करने वाले संगठन अपने हितों के लिए खेल जाते है।कई बार प्रश्न वस्तुनिष्ठ नहीं होते है।और सबसे ख़ास बात यह है कि जब प्रश्नों के उत्तर प्राप्त होते है तो भारतीय मानसिकता को एक तरफ रखते हुए यह मान लिया जाता है कि जो उत्तर दिए गए है वही उत्तर देने वालो का अंतिम निष्कर्ष है।जैसे हर सर्वे में जब लोगो को ये पूछा जाता है कि  आप किसको मुख्य मंत्री या प्रधान मंत्री के लिए पसंद करते है,तो भारत में लोग यह उत्तर दे देते है कि कौन वर्तमान प्रधान मंत्री या मुख्य मंत्री है।इस लिए हर सर्वे में वर्तमान सरकार का नेताहमेशा ज्यादा मत ले जाता है।इसी प्रकार  लोग वर्तमान शासक के  एक्जिट पोल में  अज्ञात कारणों वर्तमान शासक  को ज्यादा  वजन दे देते है।वर्तमान में  गुजरात  के नतीजे भी चौंकाने वाले हो  सकते है।गुजरात में आज एक्जिट पोल सर्वे ने सभी चैनलों में बी जे पी को 116 से 140 सीट  दी है। भगवान  से प्रार्थना करता हूँ कि  इस बार वैज्ञानिक सर्वे  की शुरुआत हो जाए। वर्ना  सट्टा बाजार सर्वे वालों से अधिक सही निकलेगा।
  पिछला वर्ष संघर्षों का वर्ष रहा ...पर वर्ष के अंत में ईश्वर ने मुझे विवाह की वर्षगाँठ पर पदोन्नति का उपहार दिया।मेरे ईश्वर तेरा बहुत बहुत शुक्रिया कि  तुमने रहमत की बरसात की।और इससे भी बढ़कर तुमने मेरे लिए दुआ करने वाले इतने दोस्त दिए और उनकी दुआ क़ुबूल की।मेरे दोस्तों और शुभचिंतको !मैं आपका आभारी हूँ और मेरी आने वाली जिन्दगी हमेशा मुझे आपकी दुआओं का अहसानमंद बनाए रखे।   
आपका 
प्रकाश पाखी 

3 टिप्‍पणियां:

sanjay vyas ने कहा…

एग्जिट पोल में पोलम पोल है.
पदोन्नति की बधाई.एक फिल्म सिनेमा हॉल में और ड्यू हुई.जय हो.

jambu nalwaya ने कहा…

satik kaur saty kathan

jambu nalwaya ने कहा…

satik kaur saty kathan